पढाई से कोसों दूर लेकिन यूट्यूब में टॉप | Carryminati Aka Ajay Nagar Biography in Hindi

Carryminati Biography in Hindi

एक तरफ जब देश Lockdown के दौर से गुजर रहा है तो वही अपना समय बिताने के लिए लोगो ने टीवी के साथ साथ टिक टोक, यूट्यूब, इंस्टाग्राम और नेटफ्लिक्स जैसे प्लेटफॉर्म्स का सहारा लिया। लेकिन इसी दौरान एक और घटना घटी, ये घटना थी टिक टोक बनाम यूट्यूब की। देश में पहले से ही चीन के उत्पादों को बैन करने की मांग उठ रही थी। टिक टोक के लिए ये आग में घी डालने जैसा हो गया और लोगों ने टिक टोक को प्ले स्टोर में नेगेटिव रेटिंग देने के साथ साथ अनइंस्टाल भी कर दिया। आखिर इन सब के पीछे वजह थे यूटूबर carryminati और टिकटोकर आमिर सिद्द्की के बीच का विवाद। अब सवाल उठता है की ये कैर्री मिनाती कौन है ? 
हम बात कर रहे हैं कैरीमिनाती (CarryMinati) नाम से फेमस यूट्यूबर अजय नागर की। इंटरनेट पर इन दिनों यह नाम छाया हुआ है, जो महज 21 साल का है, जिसकी गालियों के भी लोग दीवाने हैं। कैरीमिनाती  का Yalgaar Youtube video रिलीज होता है, लोग उसे इतना वायरल करते हैं कि यूट्यूब व्यूज, लाइक्स और कमेंट्स के मामले में सारे रेकॉर्ड टूट जाते हैं। 6 दिन में 87 मिलियन (करीब 9 करोड़) बार यह वीडियो देखा जाता है। यह बंदा ट्विटर ट्रेंड्स में दिखता है, डिजिटल मीडिया के लिए ट्रैफिक और टीवी चैनल्स की टीआरपी का जरिया बनता है। कैरीमिनाती को भारत में रोस्टिंग कल्चर डेवलप करने वाले यूट्यूबर के रूप में जाना जाता है। कैरीमिनाती को लोगों की पसंद भांपने वाला स्टार माना जाता है और उसी अनुसार बने वीडियो की बदौलत आज कैरी किसी को भी रोस्ट करने से बाज नहीं आते। कैरी लाखों कमाते हैं और लोगों को अपने वीडियो से एंटरटेन करते हैं। 12 जून को कैरीमिनाती का जन्मदिन (CarryMinati birthday) था। और उनके उनके फॉलोअर्स ने इसे भी जश्न का मौका बना दिया है। 
12 जून 1999 को हरियाणा स्थित फरीदाबाद की एक मिडिल क्लास फैमिली में जन्मे अजय नागर की उम्र बढ़ने के साथ-साथ वीडियो गेम्स और फुटबॉल के प्रति रुचि बढ़ती जाती है और पढ़ाई में मन नहीं लगता।  परिवार में माता पिता के अलावा के बड़ा भाई भी है जो गिटारिस्ट है। अजय नागर की पढाई डीपीएस  स्कूल से हो रही थी लेकिन उनका मन पढाई में कभी नहीं लगा। उन्होंने पढाई बीच में ही छोड़ दी और बाद में ओपन स्कूल से पढाई पूरी की। हालाँकि उनके परिवार ने उनके पैशन में पूरा साथ दिया। अजय नागर को वर्ष 2010 में 11 साल की उम्र में ये खयाल आता है कि क्यों न वीडियो गेम्स और फुटबॉल ट्रिक्स को वीडियो के माध्यम से लोगों तक पहुंचाया जाए। आज से 10 साल पहले न यूट्यूब इतना फेमस था और न ही वीडियो के प्रति लोगों की रुचि थी। लेकिन इस बच्चे ने ठान ली और अपने घर में पड़े विंडो 7 से लैस कंप्यूटर पर वीडियो एडिट कर यूट्यूब पर डालना शुरू कर दिया।

साल 2010 था जब अजय नागर ने 11 साल की उम्र में Stealthfearzz नाम से पहला यूट्यूब चैनल बनाया और उसपर फुटबॉल ट्रिक्स-ट्यूटोरियल्स के वीडियो डाले। बालमन में जोश-जोश में उठाए इस कदम से कुछ लाभ नहीं हुआ। लेकिन वीडियो गेम्स के प्रति दीवानगी ने अजय नागर को इतना जुनूनी बना दिया कि 15 साल की उम्र में साल 2014 में उसने दूसरा चैनल Addicted A1 नाम से शुरू किया। इस यूट्यूब चैनल पर वह counter strike game खेलने और कमेंट्री करने वाला वीडियो पोस्ट करता रहा। 
चूंकि भारत में उस समय गेम प्ले का चलन ज्यादा नहीं था, इसलिए अजय नागर के यूट्यूब वीडियो की पहुंच ज्यादा लोगों तक नहीं हुई, लेकिन कमेंट्री के अंदाज के साथ ही मिमिकरी को जिस किसी ने भी देखा, सराहा और इस तरह अजय नागर की निकल पड़ी। कारण था कि वह गेम खेलते हुए सनी देओल और ऋतिक रोशन की अच्छी मिमिकरी कर लेता था। इस बीच अजय ने अपने चैनल का नाम बदलकर CarryDeol कर लिया और गेम के कैरेक्टर की रोस्टिंग करने लगा। लोगों को अजय का ये अंदाज खूब पसंद आया और बीतते समय के साथ अजय ने रोस्टिंग को वीडियो का सबसे प्रमुख हथियार बना लिया।  साल 2015 आ गया। भारत में उस समय AIB का रोस्टिंग विवाद जोरों पर था और इसी से लोगों को अंदाजा हुआ कि रोस्टिंग का मतलब किसी की बखिया उधेड़ना होता है। मतलब ये भी कि आप अपनी बातों से किसी का चरित्र हनन कर दें। अजय नागर को यह तरीका रास आया और उसने उस समय फेमस कुछ लोगों की रोस्टिंग शुरू कर दी, लेकिन उसे खास फायदा नहीं हुआ। 
इस बीच साल 2016 आ गया और किसी की सलाह पर अजय नागर ने बिना कुछ सोचे-विचारे यूट्यूब चैनल का नाम CarryDeol से बदलकर CarryMinati कर दिया। नाम बदलने के साथ ही जैसे अजय नागर की किस्मत बदल गई और फिर शुरू हुआ रोस्टिंग का खेल, जो खुलेआम चलने लगा। इसी कड़ी में अजय नागर ने उस समय काफी फेमस यूट्यूबर भुवन बाम को रोस्ट करने वाला वीडियो डाल दिया। इस वीडियो पर अजय नागर को गाली तो खुब बड़ी लेकिन उसके सब्सक्राइबर्स की संख्या में जबरदस्त बढ़ोतरी हुई। यूट्यूब वर्ल्ड में एक नए सेंसेशन की एंट्री हुई जो रोस्टिंग करके ही अपनी दुकान चला लेगा और साथ ही प्रतिद्वंदियों की ऐसी तैसी भी कर देगा।
दरअसल, लोगों को अजय नागर का दिल्ली वाला अंदाज और बोलने का ठेठ तरीका, जिसे तू-तड़ाक की भाषा कहें, पसंद आया. इस तरह अजय ने एक लाख सब्सक्राइबर का आंकड़ा छूते हुए प्ले बटन पर कब्जा जमाया. सबकुछ ठीक चल रहा था, लेकिन कहते हैं न कि कहानी में ट्विस्ट न हो मजा कहां आता है. अजय ने वीडियो बनाने के चक्कर में पढ़ाई छोड़ी, वीडियो पर कॉपीराइट स्ट्राइक आए और फिर ऐसी तैसी हो गई. लेकिन उसने हिम्मत नहीं खोया और फिर फैंस के प्यार के सहारे अपनी यूट्यूब जर्नी ऐसे जी कि साल 2019 में उसे टाइम मैगजीन ने Next generation leaders 2019 करार दिया। अजय नागर कैरीमिनाती के नाम से फेमस हो गया। टॉम क्रूज के फिल्म के प्रमोशन के लिए पैरिस गया। यूट्यूब फैन फेस्ट में फैंस का दिल जीता। 
बीते एक महीने में कैरीमिनाती की जिंदगी ही बदल गई है। टिकटॉक कंटेट और टिकटॉकर्स आमिर सिद्दिकी रोस्टिंग वीडियो के बाद तो इतना विवाद हुआ कि कैरी का वर्तमान और भविष्य दोनों प्रभावित हुए। carryminati  ने एक महीने से भी कम समय में अपने यूट्यूब सब्सक्राइबर्स की संख्या 14 मिलियन से 21.8 मिलियन यानी 2.8 करोड़ कर ली. इस क्रम में वह अमित भड़ाना, बीबी की वाइंस, आशीष चंचलानी जैसे यूट्यूबर्स को पीछे छोड़ते हुए भारत में सबसे ज्यादा सब्सक्राइबर हासिल करने वाला यूट्यूबर बन गए. यहीं नहीं, कैरीमिनाती के हालिया वीडियो ‘Yalgaar’ को महज 24 घंटे में 40 मिलियन यानी 4 करोड़ लोगों ने देखा. इस दौरान मिलियंस में लाइक्स और कमेंट्स उसकी वीडियो पर आए, जो कि यूट्यूब के भारतीय इतिहास में किसी अजुबे से कम नहीं है. सब्सक्राइबर्स की संख्या में बेदहाशा वृद्धि हुई। फैन फॉलोइंग के साथ ही यूट्यूब विरादरी में ही दोस्त और दुश्मन भी बढ़े और अब कैरी के नए वीडियो यलगार से भूचाल आ गया है। इस तरीके से साल दर साल बीतता गया और लाख से मिलियन सब्सक्राइबर पाने के बाद गोल्डन बटन, फिर मिलियन से 10 मिलियन सब्सक्राइबर होने पर डायमंड बटन और अब 21 मिलियन सब्सक्राइबर्स वाला कैरीमिनाती का परिवार। फिलहाल वह अपने परिवार के साथ अपने पुराने घर फरीदाबाद में ही रहते हैं। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां